बिहार समाचार

आज से खुल गया बिहार म्यूजियम, आदिमकाल से 1764 तक का इतिहास देख सकेंगे

Get Rs. 40 on Sign up

बिहार म्यूजियम अपनी विभिन्न गैलरियों के साथ 2 अक्टूबर को जनता के लिए खो दिया गया । अगस्त 2015 में इसकी चिल्ड्रन गैलरी, ओरिएंटेशन थियेटर और ओरिएंटेशन गैलरी का उद्‌घाटन किया गया था। लेकिन करीब छह माह पूर्व यहां चल रहे निर्माण कार्यों के कारण इसे बंद कर दिया गया था।  आज  गांधी जयंती के अवसर पर इसका उद्‌घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार   ने  किया  सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक- यहां घूमने का टिकट वयस्कों के लिए 100 रुपए और बच्चों के लिए 50 रुपए हो सकता है।

गांधी जयंती पर खुलने जा रहे बिहार म्यूजियम की की अस्थाई आर्ट गैलरी में महात्मा गांधी पर बनी करीब 50 पेंटिंग देखने को मिलेंगी। यह पेंटिंग बिहार और देश के चर्चित कलाकारों ने बनाई है। इनमें कलाकारों की नजर से गांधी जी को देखने की कोशिश की गई है।
बिहार म्यूजियम दुनिया के समृद्ध म्यूजियम में शामिल होगा। भविष्य में यहां करीब एक लाख तक पुराअवशेष होंगे। बिहार म्यूजियम के डिस्पले की खासियत होगी कि यहां पुरावशेषों को विभिन्न कालखंडों के मुताबिक लगाया जाएगा। तीसरी शताब्दी ई. पू. की यक्षिणी की मूर्ति भी बिहार म्यूजियम में रहेगी।

बिहार म्यूजियम में आदिमकाल से लेकर 1764 तक के इतिहास को रोचक अंदाज में दिखाया जाएगा। करीब तीन हजार से ज्यादा पुरावशेष पटना म्यूजियम से लाए जा चुके हैं। पटना म्यूजियम की टेराकोटा गैलरी, स्टोन गैलरी और कांस्य गैलरी की सभी मूर्तियां या पुरावशेष बिहार म्यूजियम में दिखेंगे।

Write your Comments here

comments

Show More
रहें चौबीसो घंटे बिहार और देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट, फेसबुक पेज जरुर लाइक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close