बिहार समाचार

किसानों को 50% का अनुदान देने जा रही है बिहार सरकार, हो गया फैसला

Get Rs. 40 on Sign up

बिहार में अब किसानों को बड़ा फायदा होने वाला है. कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने कहा कि पपीता की व्यावसायिक खेती को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने किसानों की मदद करने का फैसला किया है. राज्य सरकार लागत मूल्य का 50 प्रतिशत अनुदान देगी. सहायतानुदान दो किस्तों में दिया जाएगा. पहली किस्त में राशि का 75 प्रतिशत और दूसरी में 25 का भुगतान होगा. इच्छुक किसान सहायक उद्यान निदेशक के कार्यालय से योजना का लाभ ले सकते हैं.

मंत्री ने कहा है कि पपीते की खेती मुख्य रूप से समस्तीपुर, बेगूसराय, मुंगेर, वैशाली और भागलपुर जिले में की जाती है. पपीता में औषधीय गुण होते हैं. विटामिन ए, विटामिन ई और खनिज लवण प्रचुर मात्र में पाया जाता है. इसमें एक विशिष्ट प्रकार की एन्जाइम (पपेन) होती है, जो औषधीय रूप से काफी महत्वपूर्ण है. यह पेट के लिए काफी लाभकारी होती है. राज्य सरकार ने किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री बागवानी मिशन योजना के तहत पपीता का क्षेत्र विस्तार कार्यक्रम को शामिल किया गया है. इस वर्ष 375 हेक्टेयर में पपीता की खेती का लक्ष्य तय किया गया है.

कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने कहा कि पिछले दो रोडमैप में बिहार में फसलों का शानदार उत्पादन हुआ है. तीसरे कृषि रोडमैप का शुभारंभ हो चुका है. किसानों की आय दोगुनी करने के लिए कृषि के साथ-साथ गोपालन, बकरी, मधुमक्खी पालन, वर्मी कम्पोस्ट, मशरूम की खेती पर काम हो रहा है. भाजपा के प्रदेश कार्यालय में सहयोग कार्यक्रम में कृषि मंत्री ने कहा कि सभी जिलों में एक-एक जैविक ग्राम बनाया जाएगा.

सहकारिता मंत्री राणा रणधीर सिंह ने कहा कि पिछली बार तीन लाख किसानों से धान खरीदी गई थी. इस साल का लक्ष्य दोगुना है. कैमूर के अरुण कुमार श्रीवास्तव ने पैक्स से संबंधित जांच की शिकायत की. मौके पर पूर्व विधायक चितरंजन कुमार, प्रदेश उपाध्यक्ष देवेश कुमार, मीडिया प्रभारी पंकज सिंह आदि मौजूद थे.

Write your Comments here

comments

Show More
रहें चौबीसो घंटे बिहार और देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट, फेसबुक पेज जरुर लाइक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close