बिहार समाचार

जेडीयू का ‘तीर’ नीतीश कुमार के पास रहेगा

शरद यादव को झटका देते हुए चुनाव आयोग ने फ़ैसला किया है कि जेडीयू में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समर्थन वाले समूह के पास पार्टी के चिह्न तीर का अधिकार होगा.

Get Rs. 40 on Sign up

जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव को चुनाव आयोग ने झटका दिया है. चुनाव आयोग ने फ़ैसला किया है कि जेडीयू में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समर्थन वाले समूह के पास पार्टी के चिह्न तीर का अधिकार होगा. लाइवमिंट की ख़बर के मुताबिक़ शुक्रवार को चुनाव आयोग ने नीतीश कुमार वाले जेडीयू को चुनाव चिह्न तीर का दावेदार माना. आयोग ने पार्टी संगठन, विधानसभा और विधान परिषद में विधायकों के समर्थन के आधार पर नीतीश कुमार के पक्ष में फ़ैसला सुनाया. मामले में दोनों तरफ़ से लिखित और मौखिक सबूत दिए गए थे. आयोग के फ़ैसले में कहा गया, ‘नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले समूह ने विधानसभा के साथ-साथ पार्टी की राष्ट्रीय परिषद में भी भारी बहुमत के साथ समर्थन दिखाया.’

इस मामले में गुजरात के नेता और शरद यादव के गुट के सदस्य छोटूभाई वसावा ने आवेदन कर उनके समूह के असली जेडीयू होने का दावा किया था. लेकिन चुनाव आयोग ने इसे भी ख़ारिज कर दिया. इस मामले में नीतीश कुमार और उनके लोग प्रतिवादी थे. चुनाव आयोग का फ़ैसला शरद यादव और उनके लोगों के लिए झटका है. गुजरात विधानसभा चुनाव को देखते हुए चुनाव आयोग ने इस मामले की तुरंत सुनवाई की. दोनों ही समूह चुनाव लड़ना चाहते हैं और पार्टी के चिह्न पर दावा कर रहे हैं. उन्होंने आयोग से जल्दी फ़ैसला लेने की अपील की थी.

इस साल जुलाई में नीतीश कुमार ने लालू प्रसाद यादव के राष्ट्रीय जनता दल और कांग्रेस से गठबंधन तोड़ लिया था. उन्होंने भारतीय जनता पार्टी से हाथ मिलाकर सरकार बना ली थी. तब से जेडीयू शरद यादव और नीतीश कुमार के रूप में दो धड़ों में बंट गया था. सितंबर में आयोग ने पार्टी के चुनाव चिह्न पर शरद यादव के दावे को लेकर किए गए आवेदन पर कहा था कि उनके पास पर्याप्त समर्थन नहीं है.

Write your Comments here

comments

Show More
रहें चौबीसो घंटे बिहार और देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट, फेसबुक पेज जरुर लाइक करें

Related Articles

Close