citizen updates

“तो आप आयेगी ना मेला देखने” कहानी एक प्यार की जो दशहरा मेले से शुरू होना शुरू होता है

यह स्टोरी अवनीश चौबे ने की है, अवनीश बिहार के कैमूर जिले से हैं जो फ़िलहाल बनारस में रह अपनी पढाई पूरी कर रहे हैं

Get Rs. 40 on Sign up

फिल्म मसान मूवी की एक लाइन ,जो लड़का लड़की से सीधे नहीं बल्कि फेसबुक पर मैसेज से पूछता है !

कहते है ना बनारस के प्यार में “शर्म” होता है !
ये वही शर्म है …..ये वही प्यार है
प्यार बनारस का 

हर छोटे शहर का प्यार बड़ा ही खूबसूरत होता है और वक्त के साथ और खूबसूरत होता जाता है !लड़की प्यार करना चाहती है,करती है बस बोलती नही  हां शर्माती जरूर है ,अपनी मुस्कुराहट छुपाने की लाख कोशिश करती है लेकिन छुपा नही पाती ,और यही मुस्कुराहट छुपाने और दिखाने के बीच की जो कड़ी है यही इन्हें बाकि शहरो की लड़कियों से अलग बनाती है ,हँसी रोकने के चक्कर में आँखों में आँसू आ जाते है ,और हमें अपने प्यार में और चमक दिखाई देने लगती है !!


ये फिल्मो में नही बल्कि बनारस में भी होता है ,लड़का लड़की के लिए ही मेला घूमने निकलता है या लड़की लड़के के लिए ..इसे भाभी /जीजा जी भी बोला जा सकता है,दोस्तों की भाषा में 
वैसे मेला घूमना चाहिए !

असली रोनक इन झालर लाइटों से नही आप जैसी लड़कियों से है !चमकते चेहरे ,चेहरे पर हँसी ,अपनी अदा,और चंचलता आपकी यही बात अलग है ,आपकी तरह  हां आजकल की वर्तमान व्यवस्था कुछ अलग हो गई है ,मानसिकता दूषित हो गई है लड़को की !! गुलाब की फूलों को देखिये खुश हो जाइये,उसकी खुशबु का आनन्द लीजिये,चित्त को प्रसन्न रखीये ! बस उसे छूने और मसलने की कोशिश मत करिए !


आपकी और शहर की इज्जत आपके हाथ में है ! लड़कियों के लिए वो मौहाल बनाइये जिसमे वो खुल के घूम सके,चाहते हुए भी वो नही आ पाती बस इस वजह से की कोई लड़का बतमीजी करता है ,कमेन्ट करता है ,उनके शरीर के अंगो को भीड़ का फायदा उठा के छूता है ! और वो ये बात डायरेक्टली किसी से कहने की बजाय “मुझे भीड़ भाड़ पसंद नही है” कहना पसंद करती है ! हमें ये सुनिशित करना है “लडकिया अपने दोनों हाथ खोल के एकदम फ्री हो के चले ,अपनी जिंदगी खुल के जियें या फिर दोनों हाथों से अपने इज्जत बचाते हुए ,बधकर जिये !


21वी शताब्दी में भारत देश में एक लड़की को अपने एक हाथ अपनी छाती पर रखकर चलाना पड़ता है !
चेहरा शर्म से झुक जाता है ! आप की ज़रा सी कमजोर मानसिकता इनकी कई हसरते ,खुल के जीने पर बाधा बनती है और इन्हें समाज और लड़कों से नफरत होने लगती है ! हर वो सब कुछ करिये जो आप करना चाहते है , लेकिन उस लड़की से जो असहज महसूस ना हो !!

आप  भी   अपनी स्टोरी   Yesimbihari.in   पर   लिख   सकते हैं   क्लिक   कीजिये   पोस्ट करें  

जाते  जाते   यह   विडियो   देख   जाईये   

 

 

Write your Comments here

comments

Show More
रहें चौबीसो घंटे बिहार और देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट, फेसबुक पेज जरुर लाइक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close