बिहार समाचार

नहाय-खाय कर व्रती लेंगे व्रत का संकल्प, चार दिवसीय चैती छठ आज से

Get Rs. 40 on Sign up
चैती छठ के चार दिनों का अनुष्ठान शुक्रवार को संकल्प व्रत से आरंभ हो  जायेगा. शुक्रवार को नहाय-खाय कर व्रती व्रत का संकल्प लेंगे. शनिवार को  व्रती दिन भर निराहार रहने के बाद शाम को खीर व रोटी का भोग लगा कर खरना का अनुष्ठान पूरा करेंगे. इसके बाद 36 घंटे का निराहार आरंभ हो जायेगा. रविवार को व्रतियों द्वारा अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ अर्पित किया जायेगी. सोमवार को व्रती उगते सूर्य को अर्घ अर्पित करेंगे. इसके साथ ही चैती छठ का समापन हो जायेगा. इधर, निगम प्रशासन गंगा के 11 घाटों पर छठ पूजा की व्यवस्था कर रहा है, जहां शहर के छठव्रती पहुंच कर डूबते और उगते सूर्य को अर्घ दे सकेंगे.
 
दिन भर होती रही खरीदारी : संकल्प व्रत के साथ पर्व के निमित्त उपयोग में आनेवाली पूजन सामग्री व फलों के साथ सूप, दउरा, नारियल, आम की लकड़ी व शुद्ध घी के साथ अन्य सामान की खरीदारी का सिलसिला गुरुवार को कायम रहा. खरीदारी के लिए गुलजारबाग हाट, मीना बाजार, खाजेकलां सब्जी मंडी, तरकारी  बाजार चौक, नून का चौराहा, गुड़ की मंडी, अगमकुआं, चौकशिकारपुर नाला, मोरचा रोड, गौरीदास की भट्ठी व सकरी गली के साथ त्रिपोलिया व अन्य जगहों पर खरीदारी के लिए भीड़ लगी थी.
13 घाटों पर तैनात रहेंगे दंडाधिकारी : अनुमंडल  प्रशासन चैती छठ में 13 गंगा घाटों पर दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारियों को  तैनात करेगी. एसडीओ योगेंद्र सिंह ने बताया कि लॉ कॉलेज घाट, दमराही घाट,  गायघाट, भद्र घाट, महावीर घाट, नौजर घाट, दुली घाट, मीतन घाट, खाजेकलां  घाट, झाऊगंज घाट, अदरक घाट व पथरी घाट पर दंडाधिकारी को तैनात किया गया है.
 
पाटीपुर पुल, दीघा : इस घाट पर हजारों की संख्या में छठव्रती पहुंचते हैं. इसको लेकर घाट पर जोर-शोर से काम किया जा रहा है. घाट पर बैरिकेडिंग का काम पूरा कर लिया गया था और समतलीकरण का काम चल रहा था. इसके साथ ही लाइटिंग व बांस-बल्ला भी लगाया जा रहा था. हालांकि, चेंजिंग रूम बनाने को लेकर कोई कवायद शुरू नहीं की गयी थी. समतलीकरण का काम कर रहे मजदूरों का कहना था कि गुरुवार की शाम से लाइटिंग का काम भी शुरू कर दिया जायेगा और एक अप्रैल को सुबह-सुबह घाट सज-धज कर पूर्णत: तैयार होगा.
जनार्दन घाट : इस घाट पर भी बैरिकेडिंग का काम पूरा कर लिया गया है और आठ-दस मजदूर काम कर रहे थे, जो समतलीकरण व साफ-सफाई में जुटे  थे. हालांकि, घाट पर लाइटिंग और चेंजिंग रूम को लेकर काम शुरू नहीं किया गया था. शुक्रवार को लाइटिंग लगाने के साथ साथ चेंजिंग रूम बनाने को लेकर शाम से काम शुरू कर दिया जायेगा.
गांधी घाट : इस घाट पर भी बड़ी संख्या में छठव्रती पहुंचते हैं. इसको लेकर निगम प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है. घाट पर बैरिकेडिंग का काम पूरा कर लिया गया था. इसके साथ ही लाइटिंग और चेंजिंग रूम को लेकर काम किया जा रहा था. घाट पर साफ-सफाई को लेकर मजदूर तैनात थे, जो गंदगी साफ कर रहे थे. इससे घाट पर साफ-सफाई की व्यवस्था दुरुस्त थी.
हो सकती है परेशानी : व्रतियों को घाटों की बदहाली से परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. खाजेकलां घाट से लेकर महाराज घाट व मिरचाई घाट के बीच तट के किनारे हरा काई जमा पानी है. चाली व बैरिकेडिंग की व्यवस्था नहीं हुई है. गंदगी की वजह से भी व्रतियों को परेशानी होगी.
तीन घाटों पर हो रही तैयारी : अनुमंडल के तीन गंगा घाट गायघाट, महावीर घाट व भद्र घाट पर निगम की ओर से चाली  बनाने व बैरिकेडिंग कराने का कार्य कराया जायेगा. जिलाधिकारी के निर्देश के आलोक में इन घाटों पर छठ की तैयारी चल रही है.
दूसरी ओर, बांकीपुर अंचल निगम के कार्यपालक पदाधिकारी अब्दुल हामिद व मुख्य सफाई निरीक्षक कृष्ण नारायण शुक्ला ने बताया कि पानी के अंदर पांच फुट के बाद बैरिकेडिंग करायी गयी है, जबकि चाली बनाने का काम तट पर चल रहा है. निगम का कहना है कि सफाई निरीक्षकों को निर्देश दिया गया है. सफाई निरीक्षक वार्ड में घूम-घूम  कर जहां छठ हो रहा है का निरीक्षण करेंगे.

Write your Comments here

comments

Show More
रहें चौबीसो घंटे बिहार और देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट, फेसबुक पेज जरुर लाइक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close