citizen updates

नीतीश ने राजद के हमले का दिया जवाब, विरोधियों को बताया विक्षिप्त

Get Rs. 40 on Sign up

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और उनकी पार्टी की ओर से उनपर किये जा रहे प्रहार पर आज कहा कि जो निम्न स्तरीय बात कर रहे हैं वे परेशान और विक्षिप्त लोग हैं, जो सत्ता से वंचित हैं. यहां लोक संवाद कार्यक्रम के बाद राजद प्रमुख लालू प्रसाद द्वारा उनकी राजगीर यात्रा पर टिप्पणी किये जाने के बारे में पूछे जाने पर नीतीश ने कहा, राजगीर मगध साम्राज्य की राजधानी रही है. यहां मेरी समाधि अगर बन जाती है तो इससे ज्यादा खुशकिस्मती हो ही नहीं सकती है. 



नीतीश कुमार ने कहा कि इन सब जगहों पर अगर निर्वाण मिल जाये तो इससे अच्छी और बड़ी बात क्या होगी. उन्होंने कहा कि चाहे किसी और भावना से ही सही बड़े भाई (लालू यादव) के मुंह से बड़ी अच्छी बात निकल गयी है. उन्होंने कहा कि वे बचपन से ही राजगीर जाते रहे हैं. पावापुरी में भगवान महावीर के निर्वाण स्थल पर जब मां की गोद में था तब भी वहां जाया करता था. उन्होंने कहा कि जिसका जैसा स्तर होगा उसी तरह की बात करेंगे और इन सब बातों से उन्हें कोई मतलब नहीं है.

जदयू-राजद में निम्न स्तरीय आरोप-प्रत्यारोप पर मुख्यमंत्री ने कहा, मैंने अपने 43 वर्षों के राजनैतिक जीवन में कभी कोई घटिया बातचीत नहीं की है. कभी किसी पर आपत्तिजनक टिप्पणी नहीं की है. मैं उतने घटिया स्तर पर खुद को नहीं ले जा सकता, वह मेरा स्तर नहीं है. मैंने अपने प्रवक्ताओं को भी कह दिया है कि मुझसे से संबंधित कोई भी घटिया बात करे तो उसका जवाब नहीं दें. 

नीतीश कुमार ने कहा कि कोई सहयोगी, साथी या कोई परिचित हो अगर कोई अपराध कर देगा तो क्या उसके लिए जिम्मेदार होंगे. इसी तरह से सरकारी तंत्र में कोई भ्रष्टाचार या अपराध करता है तो कानून के कटघरे में खड़ा किया जायेगा. उसका कोई बचाव नहीं करेगा. उन्होंने विरोधियों पर उनका नाम लिए बिना कहा कि आप (मीडियाकर्मी) लोग तरह तरह के लोगों से मिलते हैं. जेल के भीतर से भी मिलते हैं. भ्रष्टाचार करने वाले से भी मिलते हैं. अच्छे काम की धज्जियां उड़ाने वाले से भी मिलते हैं. आपसे ज्यादा बेहतर आदमी के स्वभाव को कौन जान सकता है.

नीतीश ने कहा कि शौचालय घोटाले को उजागर करने वाले हमारे पटना के जिलाधिकारी हैं, जबकि भागलपुर में सृजन घोटाले को उजागर करने वाले भागलपुर के जिलाधिकारी हैं. हमारे प्रशासन ने सरकार से सृजन घोटाले को उजागर किया, तुरंत संज्ञान में लिया और कार्रवाई की और सीबीआइ के सुपुर्द कर दिया. कोई गड़बड़ी करने वाला बचेगा नहीं, चाहे नेता हो, चाहे कोई अधिकारी हो.

सीएम ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद सहित अपने अन्य विरोधियों का नाम लिए बिना उन पर निशाना साधते हुए पूछा कि भ्रष्टाचार के पुरोधा ने इसे क्यों नहीं उजागर किया. नीतीश ने इन घोटालों को लेकर राजद सहित अन्य विरोधी दलों के उन पर प्रहार किए जाने पर कहा कि जिसके लिए आप लोगों को हम लोगों की प्रशंसा करनी चाहिए, उसके लिए हम ही से प्रश्न पूछा जा रहा है. सात निश्चय, सड़क, सिंचाई परियोजना में प्रगति की बातें लिखी जानी चाहिए. हम लोग विकास में लगे हुए हैं. गाली-गलौज को महत्व देने की जरुरत नहीं है, जिनको जो बोलना है बोलते रहे.

नीतीश ने कहा कि वे समाज के बदलाव के काम में लगे हुए हैं. 21 जनवरी 2018 को सबसे बड़ी मानव श्रृंखला दहेजबंदी और बाल विवाह के खिलाफ बनायी जायेगी. उन्होंने कहा कि अच्छा काम करने वाले हमारे पदाधिकारियों को प्रशंसा मिलनी चाहिए, जिस तरह की घटनाओं के बाद हमारे यहां कार्रवाई हो रही है, उसकी तुलना देश के विभिन्न हिस्से से करके देखिए? जीएसटी एवं नोटबंदी के खिलाफ विरोधियों द्वारा 8 नवंबर को विरोध दिवस के रूप में मनाने के संकल्प पर नीतीश ने कहा कि लोकतंत्र में सबको अपने-अपने तरीका से सोचने की आजादी है. क्या उन्हें ये पता नहीं है कि जीएसटी का प्रस्ताव संप्रग सरकार के समय में ही आया था. पहले वैट लाए, फिर जीएसटी की तरफ बढ़े. हम शुरू से ही इसके पक्ष में रहे हैं.

उन्होंने कहा कि तीन दिन पहले ही जीएसटी की समीक्षा की है, जिसमें लोगों को जागरुक बनाना, ट्रेडर्स, करदाताओं को होने वाली परेशानियों में सुधार के लिए उसके निदान की प्रक्रिया में लगे हुए हैं. केंद्र और राज्य सरकार इसमें आने वाली परेशानियों को दूर करने में लगी हुई है. एक नयी व्यवस्था है जिसको और आसान बनाया जा रहा है. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि जीएसटी काउंसिल में हमारे वित्त मंत्री सुशील कुमार मोदी जी जाते हैं और अपनी बातों को रखते हैं. नोटबंदी के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि कालाधन पर चोट होगा, अभी तो शुरुआत हुई है. जो इसमें लिप्त हैं वे परेशान होंगे ही. गुजरात के पाटीदारों को आरक्षण पर मुख्यमंत्री ने कहा कि वे अपने पुराने रुख पर कायम हैं. पहले विरोध करने वाले आज उसकी मांग कर रहे हैं.

Write your Comments here

comments

Show More
रहें चौबीसो घंटे बिहार और देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट, फेसबुक पेज जरुर लाइक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close