मनोरंजन

बाहुबली-2 के सब गाने आ गए हैं, फिल्म का आधा सुख तो यहीं है!

Get Rs. 40 on Sign up

 

बाहुबलीः द कनक्लूजन के पोस्टर में लीड एक्टर प्रभास.

एसएस राजामौली की ‘बाहुबलीः द बिगिनिंग’ बहुत सफल हुई क्योंकि इसने वो सब क्लिक किया जो एक फिल्म करने का इरादा करती है. हर डायरेक्टर यही सोचकर फिल्म से जुड़े सारे फैसले लेता है कि ‘ये वाली चीज़’ लोगों को बहुत पसंद आने वाली है. लेकिन ऐसा बहुत मौकों पर नहीं होता है. ये सारा खेल दर्शकों की प्रतिक्रिया और उनकी साइकी  को बढ़िया से भांपने का है जो काम राजामौली ने अपनी हर फिल्म के साथ करके दिखाया है.

वैसे ये बहुत ही औसत फिल्म है. खुद ‘बाहुबली’ की टीम के किसी भी सदस्य, आर्टिस्ट या राजामौली को अंदाजा नहीं था कि वो करीब 650 करोड़ रुपए कमा लेगी. फिल्म 100 करोड़ भी कमा ले जाती तो उनके लिए बड़ा कीर्तिमान था. लेकिन फिल्म चली क्योंकि इसके हर विभाग ने क्लिक किया. कैसे क्लिक किया ये उसकी सांकेतिक तस्वीरों में देख सकते हैं. फिल्म का पहला ही लुक जो रिलीज हुआ वो एक बच्चे का था जिसे एक हाथ में उठाया हुआ था, जिस इंसान का हाथ था वो पानी में था/थी. जीवित या मृत.

अब ऐसी छवि हमारे भीतर कम से कम दो स्तरों पर रिएक्शन लाती है. एक, इस फोटो से जो कहानी बनती है वो हिलाने वाली लगती है. कि यही वो बच्चा है जिसे बचाने के लिए किसी ने अपनी जान दे दी. जैसे पन्नाधाय ने अपने बच्चे की दी थी. दूसरा, इससे जुड़ी पारंपरिक कथा या माइथॉलजी. जैसे कृष्ण को जन्म के समय वासुदेव कैसे उफनते पाने में से पार करके अपने दोस्त के पास छोड़ने जा रहे थे. ये छवि ठीक वैसी ही थी. वासुदेव ने उफनते पाने से बचाने के लिए एक हाथ से बच्चे की छबड़ी को ऊपर कर लिया था और वे खुद करीब-करीब डूबे हुए थे.

कीरावानी और राजामौली.

ऐसी कई छवियां ‘बाहुबली’ में रहीं. ये तो हुआ कहानी और निर्देशन के स्तर का आइडिएशन. इस महागाथानुमा कहानी को सपोर्ट करने के लिए म्यूजिक भी दर्शकों के मन के लक्षित तारों को छेड़ने में सफल रहा. ये संगीत रचा था तेलुगु सिनेमा के जाने-माने नाम एम. एम. कीरावानी ने जिन्होंने हिंदी फिल्मों में एम. एम. करीम नाम से म्यूजिक दिया है. ‘ज़ख़्म’, ‘सुर’, ‘जिस्म’, ‘क्रिमिनल’, ‘रोग’, ‘स्पेशल छब्बीस’ और ‘बेबी’ में उनका संगीत रहा है.

कीरावानी ने दो साल पहले कह दिया था कि ‘बाहुबली-2’ के बाद वो रिटायरमेंट ले लेंगे क्योंकि तेलुगु सिनेमा में लिरिक्स के गिरते स्तर और म्यूजिक डायरेक्टर्स की कम होती जाती रचनात्मक स्वतंत्रता से वो गुस्से में थे. उनकी घोषणा के बाद से लोगों ने उन्हें अपने फैसले पर फिर से सोच-विचार करने के लिए कहा. इस वीकेंड ‘बाहुबली-2’ का म्यूजिक रिलीज करने के बाद उन्होंने कहा कि अब वे कम से कम म्यूजिक ही देंगे और वो भी सिर्फ तभी जब उनके काम में फिल्म का डायरेक्टर किसी तरह का दखल न दे. वे किसी के भी आदेशों या निर्देशों पर काम नहीं करेंगे. जहां सम्मान और स्वतंत्रता मिलेगी सिर्फ वहीं. उन्होंने ये भी कहा कि आज के टाइम में राजामौली जितना काबिल डायरेक्टर कोई नहीं है. वैसे वे खुद राजामौली के चचेरे भाई हैं.

पहली फिल्म के बाद ‘बाहुबली-2’ में भी कीरावानी कई अच्छी धुनें लाए हैं जो अपने स्तर पर फिल्म को मजबूत करती हैं. 28 अप्रैल को फिल्म रिलीज होने वाली है लेकिन उससे पहले फिल्म के पांच गानों के लिरिकल वीडियो आए हैं जिन्हें देखते और सुनते हुए वैसे ही एंजॉय करते हैं जैसे कि फिल्म को देखते हुए करेंगे. पांचों गाने तेलुगु में हैं और हिंदी में जल्द ही आ सकते हैं. हालांकि धुनें दोनों एलबम में एक जैसी ही होंगी इसलिए फर्क नहीं होगा. इस वर्जन को भी एंजॉय कर सकते हैं.

ये रहे बाहुबली-2 के पांचों गानेः

2015 में आई ‘बाहुबलीः द बिगिनिंग’ के गाने यहां सुन सकते हैं. इस हिंदी ज्यूकबॉक्स में सात गाने हैं.

Write your Comments here

comments

Show More
रहें चौबीसो घंटे बिहार और देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट, फेसबुक पेज जरुर लाइक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close