मनोरंजन

बिहार की बेटी श्रीनि सिंह अंतराष्ट्रीय स्तर पर मिसेज ग्लैमर इंटरनेशनल, बेल्जियम में अपने देश का नाम रोशन करने जा रहीं हैं

Get Rs. 40 on Sign up

“सफलता का एहसास तो तब होता है, जब माँ कहती हैं- हमें तुम पर गर्व है बेटा।”

 ये कहना है पटना की बेटी श्रीनि सिंह का जिन्होंने मिसेज ग्लैमर इंटरनेशनल इंडिया 2017 कांटेस्ट में जीतकर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी मातृ भूमि बिहार का परचम लहराने के बाद अब अंतराष्ट्रीय स्तर पर मिसेज ग्लैमर इंटरनेशनल, बेल्जियम में अपने देश का नाम रोशन करने जा रहीं हैं। इससे पहले 2016 में श्रीनि ने मिसेज इंडिया में मोस्ट चार्मिंग फेस का ताज भी जीता था।

मिसेज ग्लैमर श्रीनि सिंह एक बेहद खूबसूरत मॉडल होने के साथ ही एक राइटर और एडवरटाइजिंग स्पेशलिस्ट भी हैं।

अपनी स्कूल की पढाई DPS, पटना से करने के बाद कर्नाटक की मनिपाल यूनिवर्सिटी से कम्युनिकेशन में ग्रेजुएट और IIMC दिल्ली से एडवरटाइजिंग पीआर में पोस्ट ग्रेजुएट श्रीनि ने मात्र 17 साल की उम्र से ही लिखना शुरू कर दिया था। ग्रेजुएशन खत्म होने तक श्रीनि 5 इन्टर्नशिप्स कर लीये थे और 2 पुब्लिकेशन्स में फ्रीलान्स राइटर थीं।

ज्यादातर पॉलिटिकल इश्यूज पर लिखने वाली श्रीनि TOI, एसीएन एज, टेलीग्राफ जैसे पब्लिकेशन हाउसेस के लिए लिख चुकी हैं। श्रीनि आजकल ज्यादातर अमेरिकन ऑडियंस के लिए लिख रहीं हैं, उनके पॉलिटिकल और सोशल इश्यूज पर। स्टोरिआ नाम की पब्लिकेशन में बतौर रिटेनर फ्रीलान्स राइटर काम कर रही हैं।
लिखने के अलावा श्रीनि ने दुनिया की सबसे बड़ी एडवरटाइजिंग एजेंसी Ogilvy & Mather के अलावा वेबचटनी, HCL टेक्नोलॉजीज में एडवरटाइजिंग एक्सपर्ट के रूप में काम करते हुए IIBM, कैडबरी, ESPN, कोका कोला, बकार्डी, ग्लेड, आल आउट इत्यादि बड़े-बड़े ब्रांड्स को हैंडल किया है।

मॉडलिंग के क्षेत्र में कैसे आना हुआ के सवाल के जवाब में श्रीनि बताती हैं, “शुरुआत ऑनलाइन सर्फिंग करते हुए एक रैंडम आईडिया से हुई। मिसेज इंडिया के रजिस्ट्रेशन ओपन थे। मैंने अप्लाई किया और, एक के बाद एक सिलेक्शन राउंड्स क्रॉस करते गयी। और आज मैं यहाँ हूँ।

मेरा पहले से ऐसा कोई भी प्लान नहीं था। बस हर लड़की की तरह खूबसूरती की तारीफ की चाह थी। ये सिर्फ बाहरी खूबसूरती नहीं, बल्कि दिल और मन की भी खूबसूरती की थी। मैं अपने आपको सौभाग्यशाली फील करती हूँ की मुझे मेरे फर्स्ट एटेम्पट में ही इतना बड़ा प्लेटफार्म मिला। ”

लेकिन ये सब श्रीनि के लिए भी आसान नहीं था। ये मुकाम हासिल करने के लिए उन्हें भी बहुत स्ट्रगल करना पड़ा। कुछ लोगों ने मना किया। बोला तुम राइटर हो, तुमसे नहीं हो पायेगा इतना ग्लैमर। वहीं कुछ लोगों ने श्रीनि का हौसला बढ़ाया, बहुत खुश हुए जान कर और कहा की हमें पता था की तुम एक दिन कुछ बड़ा करोगी। तुम बचपन से ही मॉडल की तरह बिहेव करती थी।

श्रीनि कहती हैं, “लेकिन सबसे महत्वपूर्ण ये रहा की मैंने खुद पर भरोसा करना कभी नहीं छोड़ा, न तब जब मझे पढाई के लिए एक शहर छोड़ कर अकेले दूसरे शहर जाना पड़ता था, न अब।”

लेकिन ये सब श्रीनि के लिए भी आसान नहीं था। ये मुकाम हासिल करने के लिए उन्हें भी बहुत स्ट्रगल करना पड़ा। कुछ लोगों ने मना किया। बोला तुम राइटर हो, तुमसे नहीं हो पायेगा इतना ग्लैमर। वहीं कुछ लोगों ने श्रीनि का हौसला बढ़ाया, बहुत खुश हुए जान कर और कहा की हमें पता था की तुम एक दिन कुछ बड़ा करोगी। तुम बचपन से ही मॉडल की तरह बिहेव करती थी।

श्रीनि कहती हैं, “लेकिन सबसे महत्वपूर्ण ये रहा की मैंने खुद पर भरोसा करना कभी नहीं छोड़ा, न तब जब मझे पढाई के लिए एक शहर छोड़ कर अकेले दूसरे शहर जाना पड़ता था, न अब।”

श्रीनि का मानना है की हर इंसान को अपने दिल की बात सुननी चाहिए और चाहे ज़िन्दगी में जो भी परिस्थिति हो, खुद पर भरोसा रखना चाहिए। फ्यूचर प्लान के बारे में पूछे जाने पर श्रीनि कहती हैं की उन्होंने कोई प्लान नहीं बनाया। उनका मानना है की ज़िन्दगी जिस ओर बहा कर ले जाये, बढ़ते चलो। बंजारों की तरह ज़िन्दगी को एक्स्प्लोर करने का अपना अलग ही रोमांच है। आगे भगवान की मर्ज़ी। बस अपना काम ईमानदारी से करते रहो। आगे सब अच्छा ही होगा।

बिहार और बिहारियों के बारे में श्रीनि कहती हैं, “हम बिहारी लोग पढाई के बड़े पक्के होते हैं और ये हमेशा काम आता है! फिर वो फैशन हो या राइटिंग या एक्टिंग, रिसर्च और मेहनत में हमें कोई पीछे नहीं छोड़ सकता।”
महिलाओं को सन्देश देते हुए श्रीनि कहती हैं की हर महिला अपने आप में बेहद ख़ूबसूरत होती है और उन्हें अपने आप पर विश्वास और भरोसा होना चाहिए। कभी भी मेहनत से पीछे न हटें न हार मानें, फिर तो कामयाबी आपके कदम जरूर चूमेगी।

Write your Comments here

comments

Show More
रहें चौबीसो घंटे बिहार और देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट, फेसबुक पेज जरुर लाइक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close