THE BIHARIबिहार समाचार

मुंगेर के निरंजनानंद को पद्मभूषण, मधुबनी की बउआ देवी को पद्मश्री

Get Rs. 40 on Sign up

केंद्र सरकार ने पदम् पुरस्कारों की घोषणा कर दी है. इस बार किसी को भारत रत्न नही मिला है. बिहार के खाते में दो पदम अवार्ड आय हैं. मुंगेर के बिहार योग विद्यालय से जुड़े स्वामी निरंजनानंद सरस्वती को पद्म भूषण और मधुबनी की बउआ देवी को  को आर्ट एंड पेंटिंग में पद्मश्री का अवार्ड मिला है. झारखंड में वरिष्ठ पत्रकार बलवीर दत्त को भी साहित्य और पत्रकारिता के लिए पद्म श्री का अवार्ड दिया गया है.

स्वामी निरंजनानन्द सरस्वती (जन्म १४ फ़रवरी १९६०) सत्यानन्द सरस्वती के शिष्य एवं उत्तराधिकारी हैं. स्वामी सत्यानन्द सरस्वती ने ‘सत्यानन्द योग’ का प्रवर्तन किया था. स्वामी सत्यानन्द ने सन् १९८८ में सम्पूर्ण विश्व के सत्याननद योग से सम्बन्धित कार्यों के समन्वय का कार्य स्वामी निरंजनानन्द को सौंप दिया था. स्वामी निरंजनान्द का जन्म मध्य प्रदेश के राजनादगाँव में हुआ था. उनके शिष उन्हें आजन्म योगी मानते हैं.

बउआ देवी  ने मधुबनी पेंटिंग को अंतर्राष्ट्रीय पहचान दी है. बउआ देवी  की पेंटिंग की ख्याति पूरी दुनिया में है. मधुबनी में जन्मी  की बड़ी प्रसिद्धी है. इन्हें पद्मश्री के अवार्ड मिलने की घोषणा से मधुबनी के लोगों में खुशी फ़ैल गयी है. बधाइयों का तांता शुरू हो गया है. माना जा रहा है कि इस अवार्ड के बाद बउआ देवी  मधुबनी पेंटिंग को और ख्याति दिलाने के लिए बड़े स्तर पर काम करेंगी.

Write your Comments here

comments

Show More
रहें चौबीसो घंटे बिहार और देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट, फेसबुक पेज जरुर लाइक करें

Related Articles

Close