THE BIHARI

यही वो वजहें हैं जो हम बिहारियों को खाश बनाते हैं

Get Rs. 40 on Sign up

बिहारी बोले तो बिंदास! हर एक चीज निराली होती है बिहारियों की. अदा भी और अंदाज भी. लेंग्वेज से लेकर लाइफ स्टाइल तक, टेस्ट से लेकर ड्रेसिंग सेंस तक सब यूनिक और डिफरेंट. जहां जाते हैं, छा जाते हैं. अपनी बिहारी ठसक के साथ लाइफ एंज्वॉय करते हैं. अब इस अदा पर कौन न मर मिटे.

लेकिन एक समय ऐसा भी था जब बिहारी शब्द ही पिछड़ेपन का पर्याय माना जाता था. यह शब्द सुनते ही पहला ख्याल अनडेवलप्ड स्टेट का आता था हर किसी के जहन में. एक ऐसी जगह जहां अशिक्षित लोग रहते हैं. माइग्रेशन की समस्या इतनी ज्यादा कि हर कोई वहां से भागने को बेताब नजर आता है. अपने राज्य को छोड़ दूसरे राज्य के विकास में भागीदारी सबसे ज्यादा देने वाला. पर अब ऐसी बात नहीं है. बदलते समय के साथ लोग अब एक नए बिहार को देखते हैं.

अनुराग कश्यप की फिल्मों और अपने बिहारी दोस्तों के माध्यम से बाहर रहने वाले लोग बिहार को अब ज्यादा जानने लगे हैं. इसलिए अब पहले जैसी स्थिति नहीं रही. पर अब भी कुछ stereotypes लोग हैं जिन्हें लगता है कि बिहारी लड़के बेहद पढ़ाकू, टूटी-फूटी अंग्रेजी में बात करने वाले और इंट्रोवर्ट नेचर के होते हैं. अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो मेरे दोस्त, किसी भी तरह का कांसेप्ट बनाने से पहले बिहारी लड़कों को समझना जरूरी है.

हम बिहारी हैं ‘दिलवा’ के भोला भाला

हम बिहारी है यही हमारी पहचान है. इस बात पर हर एक बिहारी लड़के को गर्व है. होना भी चाहिए. सभी को होना चाहिए. अपने प्रदेश और देश या यूं कहें कि अपनी आइडेंटिटी पर गर्व क्यों न हो हमें? हम बिहारी लड़के भी किसी अन्य राज्य के लड़कों जैसे ही होते हैं.

हां कुछ बातें हैं जो हमें उनसे थोड़ा अलग करती है. हम जहां भी जाते हैं अपनी संस्कृति को साथ लिए जाते हैं. घरेलू जिम्मेदारियों और उच्च शिक्षा के लिए हम बिहार तो छोड़ देते हैं पर बिहार हमें नहीं छोड़ पाता. शायद यही वजह है कि हमारी हरेक एक्टिविटी में बिहार दिख ही जाता है. ‘गेम ऑफ़ थ्रोन्स’ की सीरीज से ज्यादा हम पॉलिटिक्स पर बात करना पसंद करते हैं. हरेक बिहारी राजनीति का ‘चाणक्य’ है. टेस्ट भी अलग है. गर्मियों में कोल्ड ड्रिंक के जगह सत्तू को प्रेफर करते है. ठंड में Cuppaciono की जगह कुल्लहड़ चाय ही भाता है. ‘मैं’ की जगह ‘हम’ बोलते हैं. हम सबको साथ लेकर चलना जानते हैं.

शायद यह सब पढ़ कर भी आपका कांसेप्ट न बदला हो. तो कल्पना कीजिये, एक बिहारी लड़के के बारे में जो आपसे प्रेम का इजहार कर रहा है, यह कहकर कि हम एकठो बात कहना चाहते हैं आपसे. आपको देखकर न हमरे दिल में कुछ कुछ होता है. आप बुरा न मानें तो हम आपको आइ लव यू बोल दें? बोलिए देते हैं. आई लव यू. तो यह है बिहारी अंदाज. है न हटकर? एकदम यूनिक एंड डिफरेंट प्रपोजल. इसलिए आज हम आपको ऐसी छह यूनिक वजह बताएंगे जिसे पढ़कर आपको बिहारी लड़कों से प्यार हो न हो उन्हें समझना जरूर आसान हो जाएगा.

फूड इज फर्स्ट लव ऑफ बिहारी

लिट्टी चोखा का नाम तो आपने सुना ही होगा. अगर पहली बार सुन रही हैं तो थोड़ा अटपटा लग सकता है. पर यह एक ऐसा फ़ूड है जिसे लेकर हम बिहारी एक्सेस इमोशनल होते हैं. लिट्टी चोखा को हम कब, कैसे और किन इंग्रिडेंट्स का इस्तेमाल कर बनाते हैं इस पर घंटों बात कर सकते हैं. इसमें यूज होने वाले सत्तू की महिमा बखान से लेकर इसके समर्थन में कुछ भी कह सकते हैं. इस बारे में हर तरह की जानकारी दे सकते हैं. अब जैसे यह कि सत्तू फास्ट फूड नहीं, ‘सुपर फास्ट फूड’ है. मतलब अगर आप बिहारी लड़के के साथ हैं तो हर रोज नए बिहारी पकवानों की लजीज स्वाद यात्रा पर जाने को तैयार रहें.

जियअ हो बिहार के लाला

बिहारी संगीत के भी दीवाने होते हैं. हर वक़्त उनके अंदर कोई न कोई संगीत बजता ही रहता है. उनका एक्सेंट भी म्यूजिकल ही होता है. जैसे हमारे यहां वुमेन नहीं होती है, ओ वुमनिया  होती है. गैंग्स ऑफ़ वास्सेय्पुर तो देखा ही होगा आपने? डैट फिल्म हैज मेड बिहारी एक्सेंट सो कूल.

 

जमीन से जुड़ल बा इ लोग

बिहारी लड़के पढ़-लिखकर आईएएस-आईपीएस ही क्यों न बन जाएं, पर जमीन से जुड़े रहने का स्वभाव उनका नहीं बदलता. बिजी लाइफ और काम के प्रेशर के बीच भी परिवार के साथ रहने का वक़्त निकाल ही लेते हैं. दिस इज हाऊ दे आर ऑलवेज फैमिली ओरिएंटेड एंड रेस्पोंसिबल.

 

ईमानदार, मेहनतकश और स्वाभिमानी

आप कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक क्यों न घूम आएं, बिहारियों के पोटेंशियल पर कोई सवाल नहीं उठा सकता, खासकर के हार्डवर्क और इंटेलिजेंस के मामले में. देश भर की सभी बड़ी परीक्षाओं में बिहारियों का रिजल्ट सबसे बेहतर होता है. सरकारी दफ्तर से लेकर प्राइवेट सेक्टर तक में किसी भी बड़े पोस्ट पर बिहारियों की तादाद देख आप खुद समझ जाएंगीं. मतलब अगर आप किसी बिहारी लड़के के साथ रिलेशनशिप में हैं तो बधाई हो, आपका फ्यूचर सिक्योर है आपका.

सब कुछ आता है, मास्टर्स आॅफ आॅल

अगर आप किसी भी उलझन में फंस चुकी हैं और कोई रास्ता न सूझ रहा हो तो ऐसे में शक्तिमान की भूमिका में आपका बिहारी फ्रेंड ही रहता है. जेन्युन सोर्स न चले तो जुगाड़ जिंदाबाद. बिहारियों के पास हर समस्या का समाधान होता है. कितना भी बड़ा प्रॉब्लम क्यों न हो उसका लूप होल बिहारियों को पता होता है, इसलिए सॉल्यूशन भी

हुड़… हुड़ दबंग दबंग

बिहारियों के परिचय देने का अंदाज बिलकुल डिफरेंट रहता है. हरेक बिहारी गांव के मुखिया से लेकर राज्य के मुख्यमंत्री तक के साथ कोई न कोई रिलेशन जोड़ ही लेता है. और यही वजह है कि दबंगई में उनसे कोई नहीं जीत सकता. अब इस वजह दुनिया उनके बारे में कुछ भी क्यों न कहे, वे तो अपनी ही दुनिया में लीन रहते हैं. अलग ही बिहारी स्वैग है भाई. दबंग एटीट्यूड.

 

जाते जाते यह विडियो देखते जाईये 

बिहारी मतलब ?

MUST WATCH : यह आप पहला ऐसा विडियो देखेंगे, जिसमें आपको लगेगा की हाँ अब लोग बिहार और बिहारियों को जानने लगे हैं.

Posted by Yes I'm Bihari on Friday, 7 July 2017


Write your Comments here

comments

Show More
रहें चौबीसो घंटे बिहार और देश दुनिया की ख़बरों से अपडेट, फेसबुक पेज जरुर लाइक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close